Hindi Moral Story “Sukhsay mool dharma” “सुखस्य मूलं धर्मः” Best Motivational Story of “Nausherwan-E-Adil”.

सुखस्य मूलं धर्मः

Sukhsay mool dharma

फारस के बादशाह नौशेरवाँ-ए-आदिल अपनी न्यायप्रियता एवं दयालुता के लिए प्रसिद्ध हैं। उनके पिता कोबाद अपना पारसी धर्म त्यागकर मजदक नामक एक पाखंडी द्वारा चलाए गए मजदकी धर्म के अनुयायी हो गए थे। इस धर्म का सिद्धांत था-संसार की हर चीज का सृष्टिकर्ता ईश्वर होने के कारण किसी भी वस्तु पर किसी एक व्यक्ति का अधिकार नहीं हो सकता, बल्कि हर एक का समान हक है। परिणाम यह हुआ कि राज्य में अशांति और अव्यवस्था फैल गई, जिस पर काबू करना कोबाद के बस की बात न थी। फल यह हुआ कि इसी चिंता में वे इस संसार से चल बसे।

गद्दी खाली होने पर सरदारों ने नौशेरवाँ से गद्दी सँभालने की विनती की, किन्तु उन्होंने स्पष्ट शब्दों में कहा कि उन्हें अशांति और अव्यवस्था वाला राज्य नहीं चाहिए, इसके बदले वे सादगी से निर्धनतापूर्वक एवं धार्मिक जीवन बिताना पसंद करते हैं। सरदारों के बहुत आग्रह करने पर नौशेरवाँ राज्य का कारोबार सँभालने को राजी हो गए, किन्तु उन्होंने शर्त रखी कि प्रजा को उनके आदेशों का पालन करना होगा ।

एक दिन दरबार लगा हुआ था कि एक व्यक्ति ने आकर बादशाह से फरियाद की कि एक मजदकी ने उसकी पत्नी का अपहरण कर लिया है। बादशाह ने उस मजदकी को बुलवाया। पूछने पर उसने अपने धर्म का सिद्धांत दुहराते हुए कहा कि उस स्त्री पर किसी एक का हक नहीं जो हो सकता। इस पर बादशाह बोला, “हम ऐसे धर्म को धिक्कारते हैं, लूटमार और अन्याय की शिक्षा देता है। मैं इस राज्य में ऐसे धर्म को चलने नहीं दूँगा।”

यह सुनते ही वह दुष्ट क्रोधित होकर बोला, “जहाँपनाह, जिस धर्म. को हजारों लोग मानते हैं, उसे आप कैसे नष्ट कर सकते हैं? यह तो ईश्वर के प्रति अन्याय होगा।”

इस पर नौशेरवाँ बोले, “ईश्वर के प्रति अन्याय किस धर्म और किस कर्म से होता है, यह मैं अच्छी तरह जानता हूँ। तुमने अन्याय किया है और इसे स्वीकार भी कर लिया है, इसलिए मैं तुम्हें प्राणदंड की सजा सुनाता हूँ।”

इतना ही नहीं, उन्होंने धर्म के नाम पर लूटमार करने वाले हर मजदीकी को कारागार डाल दिया तथा जिसकी जो भी वस्तु छीनी गई थी, उसे उसके मालिक को लौटा दिया। इससे न्याय और सुव्यवस्था के कारण राज्य में सुख और शांति फैल गई।

Related posts:

Hindi Moral Story “Kathni Se Karni Bhali”, “कथनी से करनी भली” for Kids, Full length Educational Stor...
Children Story
Akbar-Birbal English Moral Story "Birbal Turns Tables" for Kids, Educational Story for Students of c...
Short Story
Hindi Moral Story "Ulti Ganga”, "उल्टी गंगा” for Kids, Full length Educational Story for Students of...
हिंदी कहानियां
Hindi Moral Story "Parampraon Ka Jaal", "परम्पराओं का जाल” for Kids, Full length Educational Story f...
Children Story
English Inspirational Story “Praise and Punishment” Moral Story for kids and Students.
Moral Story
Hindi Moral Story "Jyda Bolne ka Nuksan", "ज़्यदा बोलने का नुक्सान” for Kids, Full length Educational...
Children Story
Akbar-Birbal Hindi Moral Story "Tedha Sawal", "टेढा सवाल" for Kids, Educational Story for Students o...
Children Story
English Moral Story "Three effigies" for Kids, Full length Educational Story for Students of Class 5...
Children Story
English Short, Moral Story “A Sense of A Goose” for Kids and Children for Class 5, 6, 7, 8, 9, 10, c...
Short Story
English Short, Moral Story “Intelligence works Wonders" for Kids and Children for Class 5, 6, 7, 8, ...
Moral Story
Short Story "Unity is the Strength" for Children, moral story for kids in English for competition wi...
Children Story
English Short, Moral Story “Dishonesty never Wins" for Kids and Children for Class 5, 6, 7, 8, 9, 10...
Moral Story
Hindi Moral Story "Paropkaar Ke Gun", "परोपकार के गुण” for Kids, Full length Educational Story for S...
Children Story
Hindi Moral Story "Jadu ki Chadi", "जादू की छड़ी” for Kids, Full length Educational Story for Studen...
Children Story
English Inspirational Story “Getting Rid of Resentment” Moral Story for kids and Students.
Moral Story
English Inspirational Story "Stilling the Mind" Moral Story for kids and Students.
Moral Story
English Short, Moral Story “The Foolish Lion" for Kids and Children for Class 5, 6, 7, 8, 9, 10, com...
Moral Story
English Short, Moral Story “Beautiful Gift” for Kids and Children for Class 5, 6, 7, 8, 9, 10, compe...
Short Story
English Short, Moral Story “Changing Fortune" for Kids and Children for Class 5, 6, 7, 8, 9, 10, com...
Children Story
Hindi Moral Story "Sher aur Khargosh”, "शेर और खरगोश” for Kids, Full length Educational Story for St...
हिंदी कहानियां

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *