Hindi Moral Story “Kehne me Savdhani Barten”, “कहने में सावधानी बरतें” for Kids, Full length Educational Story for Students of Class 5, 6, 7, 8, 9, 10.

सोच – समझ कर बोले

एक व्यक्ति ने एक पादरी के सामने अपने पड़ोसी की खूब निंदा कि. बाद में जब उसे अपनी गलती का अहसास हुआ, तो वह पुनः पादरी के पास पहुंचा और उस गलती के लिए क्षमा याचना करने लगा. पादरी ने उससे कहा कि वह पंखो से भरा एक थैला शहर के बीचोबीच बिखेर दे. उस व्यक्ति ने पादरी कि बात सुनकर ऐसा ही किया और फिर पादरी के पास पहुँच गया.

उस व्यक्ति की बात सुनकर पादरी ने उससे कहा कि जाओ और उन सभी पंखो को फिर से थैले में भरकर वापस ले आओ. वह व्यक्ति थोड़ा हिचका पर पादरी का आदेश मानते हुए उसने ऐसा करने की कोशिश की. काफी प्रयत्न करने के बाद भी वह सभी पंखो जमा नहीं कर सका. जब आधा भरा थैला लेकर वह पादरी के सामने पहुंचा तो पादरी ने उससे कहा की यही बात हमारे जीवन में भी लागू होती है.

जिस तरह तुम पंख वापस नहीं ला सकते, उसी तरह तुम्हारे कटु वचन को भी वापस नहीं किया जा सकता. उस व्यक्ति का जो नुकसान हुआ है, अब उसकी भरपाई संभव नहीं है. आलोचना का मतलब नकारात्मक बातें करना और शिकायत करना ही नहीं होता बल्कि आलोचना सकारात्मक भी हो सकती है. आपकी कोशिश यह होनी चहिये की आपकी आलोचना से, आपके द्वारा सुझाये विचारो से उसकी सहायता हो जाएँ.

शिक्षा/Moral:- दोस्तों कई बार देखा गया है कि माँ – बाप के द्वारा बच्चो से की गई बातचीत का ढंग उनके भविष्य कि रूपरेखा भी तय कर देता है. इसलिए घर से लेकर बाहर दोस्तों के साथ कुछ भी कहने में सावधानी बरतें. इसलिए अगर आप समझ कर बोलेंगे तो हमेशा फायदे में रहेंगे.

Related posts:

English Inspirational Story “Creative Problem Solving” Moral Story for kids and Students.
Moral Story
Hindi Moral Story "Bura Chahne walon ka bhi Bura Hota Hai", "बुरा चाहने वालों का भी बुरा होता है”
Children Story
English Short, Moral Story “A Faithful Dog" for Kids and Children for Class 5, 6, 7, 8, 9, 10, compe...
Moral Story
Moral Story "Giving Advice " for Kids and Children, English Story for Class 5, 6, 7, 8, 9, 10, compe...
Children Story
English Short, Moral Story “The Praying Hands" for Kids and Children for Class 5, 6, 7, 8, 9, 10, co...
Moral Story
Hindi Moral Story "Jindagi ka Kadwa Sach”, "ज़िंदगी का कड़वा सच” for Kids, Full length Educational S...
हिंदी कहानियां
English Essay, Moral Story "The Bar” for Kids and Children for Class 5, 6, 7, 8, 9, 10, competition ...
Short Story
English Short, Moral Story “Start from basis to learn better” for Kids and Children for Class 5, 6, ...
Moral Story
English Short, Moral Story “Two Goats" for Kids and Children for Class 5, 6, 7, 8, 9, 10, competitio...
Moral Story
Hindi Moral Story "Moorkh Ghoda", "मूर्ख घोड़ा” for Kids, Full length Educational Story for Students...
Children Story
Hindi Moral Story "Waiter ki Tip", "वेटर की टिप” for Kids, Full length Educational Story for Student...
Children Story
Short Story "The Foolish Goats" for Children, moral story for kids in English for competition with m...
Children Story
English Short, Moral Story “Listening to Sound of Silence" for Kids and Children for Class 5, 6, 7, ...
Moral Story
Hindi Moral Story "Hiteshi ka Ahit nhi krna chahiye", "हितैषी का अहित नहीं करना चाहिए” for Kids, Ful...
Children Story
Akbar-Birbal English Moral Story "Cooking The Khichdi" for Kids, Educational Story for Students of c...
Short Story
English Short, Moral Story “The Tale Of How The Tiger Got His Stripes" for Kids and Children for Cla...
Moral Story
English Inspirational Story "Paving the Way to Inner Growth" Moral Story for kids and Students.
Moral Story
English Short, Moral Story “A monkey and An Elephant" for Kids and Children for Class 5, 6, 7, 8, 9,...
Moral Story
Hindi Moral Story “Siyar aur Bhediya”, “सियार और भेड़” for Kids, Students of Class 5, 6, 7, 8, 9, 10...
Children Story
English Moral Story "Skunk Dessert" for Kids, Full length Educational Story for Students of Class 5,...
Children Story

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.