Hoste ke Jeevan ka varnan karte hue mitra ke naam patra “छात्रावास के जीवन का वर्णन मित्र के नाम पत्र ।” Sample Hindi Letter Writing Example.

छात्रावास के जीवन का वर्णन मित्र के नाम पत्र ।

Hindi-Letter-Writing-GyanIQ

नेहरू छात्रावास,

रामाकृष्णापुरम, नई दिल्ली ।

दिनांक 27 जनवरी,

प्रिय मित्र आलोक,

मधुर स्मृति ।

अभी-अभी विद्यालय से छात्रावास में पहुँचा तो कमरे का दवार खोलते ही तुम्हारा पत्र मिला। तुमने एक साथ अनेक बातें पूछ डाली हैं । वास्तव में हम दोनों सदा साथ रहे हैं । अत: पहली बार दूर रहने पर तुम्हारी यह जिज्ञासा उचित ही है। मुझे भी प्रतिदिन तुम्हारा स्मरण हो आता है । यहाँ छात्रावास के जीवन में कोई परेशानी नहीं है । छात्रावास के जीवन का भी अपना एक विशेष आनंद है । प्रातः जागरण से लेकर रात्रि शयन तक का कार्यक्रम, ऐसा व्यस्तता से भरा हुआ है कि कभी अन्य बातों की ओर ध्यान ही नहीं जाता ।

छात्रावास के सभी साथी एक परिवार के समान रहते हैं । एक दूसरे की अलग-अलग रुचियाँ हमारा खूब मनोरंजन करती हैं । साथ ही उनसे ज्ञान भी बढ़ता है । एक साथ मिलकर चाय-पान, भोजन, मनोरंजन गाना-बजाना आदि स शिक्षा के वातावरण में रस का संचार होता है । छात्रावास के प्रबंध में हम सब स्वयं भाग लेते हैं । इससे किसी से कोई शिकायत या मन मुटाव का प्रश ही नहीं उठता । व्यायाम, खेल-कूद और स्वाध्याय के लिए यहाँ अलग-अलग बहुत अच्छी व्यवस्था है । हम अपनी-अपनी रुचि के अनुसार अवकाश के समय में इन सुविधाओं का लाभ एवं आनंद प्राप्त करते हैं । सच कहता हूँ, किसी दिन तुम यहाँ आओ तो स्वयं छात्रावास के आनंद का अनुभव कर सकते हो । मित्रों को मेरी याद दिलाना ।

तुम्हारा अभिन्न हृदय,

अनुज

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.