Hindi Moral Story “Bina Soche Samjhe”, “बिना सोचे समझे” for Kids, Full length Educational Story for Students of Class 5, 6, 7, 8, 9, 10.

बिना सोचे समझे

Bina Soche Samjhe

 

एक समय शहर से कुछ ही दूरी पर एक मंदिर का निर्माण कैया जा रहा था। मंदिर में लकडी का काम बहुत थ इसलिए लकडी चीरने वाले बहुत से मजदूर काम पर लगे हुए थे। यहां-वहां लकडी के लठ्टे पडे हुए थे और लठ्टे व शहतीर चीरने का काम चल रहा था। सारे मजदूरों को दोपहर का भोजन करने के लिए शहर जाना पडता था, इसलिए दोपहर के समय एक घंटे तक वहां कोई नहीं होता था। एक दिन खाने का समय हुआ तो सारे मजदूर काम छोडकर चल दिए। एक लठ्टा आधा चिरा रह गया था। आधे चिरे लठ्टे में मजदूर लकडी का कीला फंसाकर चले गए। ऐसा करने से दोबारा आरी घुसाने में आसानी रहती हैं। तभी वहां बंदरों का एक दल उछलता-कूदता आया। उनमें एक शरारती बंदर भी था, जो बिना मतलब चीजों से छेडछाड करता रहता था। पंगे लेना उसकी आदत थी। बंदरों के सरदार ने सबको वहां पडी चीजों से छेडछाड न करने का आदेश दिया। सारे बंदर पेडों की ओर चल दिए, पर वह शैतान बंदर सबकी नजर बचाकर पीछे रह गया और लगा अडंगेबाजी करने। उसकी नजर अधचिरे लठ्टे पर पडी। बस, वह उसी पर पिल पडा और बीच मेंअडाए गए कीले को देखने लगा। फिर उसने पास पडी आरी को देखा। उसे उठाकर लकडी पर रगडने लगा। उससे किर्रर्र-किर्रर्र की आवाज निकलने लगी तो उसने गुस्से से आरी पटक दी। उन बंदरो की भाषा में किर्रर्र-किर्रर्र का अर्थ ‘निखट्टू’ था। वह दोबारा लठ्टे के बीच फंसे कीले को देखने लगा। उसके दिमाग में कौतुहल होने लगा कि इस कीले को लठ्टे के बीच में से निकाल दिया जाए तो क्या होगा?

 

अब वह कीले को पकडकर उसे बाहर निकालने के लिए जोर आजमाईश करने लगा। लठ्टे के बीच फंसाया गया कीला तो दो पाटों के बीच बहुत मजबूती से जकडा गया होता हैं, क्योंकि लठ्टे के दो पाट बहुत मजबूत स्प्रिंग वाले क्लिप की तरह उसे दबाए रहते हैं। बंदर खूब जोर लगाकर उसे हिलाने की कोशिश करने लगा। कीला जोज्र लगाने पर हिलने व खिसकने लगा तो बंदर अपनी शक्ति पर खुश हो गया। वह और जोर से खौं-खौं करता कीला सरकाने लगा। इस धींगामुश्ती के बीच बंदर की पूंछ दो पाटों के बीच आ गई थी, जिसका उसे पता ही नहीं लगा। उसने उत्साहित होकर एक जोरदार झटका मारा और जैसे ही कीला बाहर खिंचा, लठ्टे के दो चिरे भाग फटाक से क्लिप की तरह जुड गए और बीच में फंस गई बंदर की पूंछ। बंदर चिल्ला उठा। तभी मजदूर वहां लौटे। उन्हें देखते ही बंदर नी भागने के लिए जोर लगाया तो उसकी पूंछ टूट गई। वह चीखता हुआ टूटी पूंछ लेकर भागा। सीखः बिना सोचे-समझे कोई काम न करो।

 

Related posts:

Hindi Moral Story "Durlab ko na sataiye" "दुर्बल को न सताइए" Best Motivational Story of "Harun-Al-Ra...
Story
English Short, Moral Story “Have Patience and Never Give up” for Kids and Children for Class 5, 6, 7...
Moral Story
English Short, Moral Story “Divided we fall; United we stand” for Kids and Children for Class 5, 6, ...
Short Story
English Moral Story "To Care for those Who once Cared for us " for Kids, Full length Educational Sto...
Children Story
Akbar-Birbal English Moral Story "Akbar's Ring" for Kids, Educational Story for Students of class 5,...
Moral Story
English Short, Moral Story “A Thief can’t Question a Robber" for Kids and Children for Class 5, 6, 7...
Moral Story
English Short, Moral Story “The lion and the hare" for Kids and Children for Class 5, 6, 7, 8, 9, 10...
Moral Story
Moral Story "How will You Respond " for Kids and Children, English Story for Class 5, 6, 7, 8, 9, 10...
Children Story
English Short, Moral Story “Weakness Turned into Strength” for Kids and Children for Class 5, 6, 7, ...
Moral Story
Short Story "The Prince and The Snake" for Children, moral story for kids in English for competition...
Children Story
English Inspirational Story “Fewer the Wants, Greater the Joy” Moral Story for kids and Students.
Moral Story
English Short Moral Story “The Wise Man” for Kids and Children, Essay for Class 5, 6, 7, 8, 9, 10 wi...
Children Story
English Inspirational Story “A Lesson for Parents” Bedtime Moral Story for kids and Students.
Moral Story
English Short, Moral Story “The talkative tortoise" for Kids and Children for Class 5, 6, 7, 8, 9, 1...
Moral Story
Short Story "The Palace and The Hut" for Children, moral story for kids in English for competition w...
Children Story
English Short, Moral Story “The Wolf And The Lamb” for Kids and Children for Class 5, 6, 7, 8, 9, 10...
Short Story
English Short, Moral Story “Hard Work vs Smart Work" for Kids and Children for Class 5, 6, 7, 8, 9, ...
Moral Story
English Short, Moral Story “The monkey and the crocodile" for Kids and Children for Class 5, 6, 7, 8...
Moral Story
English Inspirational Story “Keep Away from Temptation” Moral Story for kids and Students.
Moral Story
English Short, Moral Story “Ultimate Sacrifice" for Kids and Children for Class 5, 6, 7, 8, 9, 10, c...
Children Story

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *