Hindi Letter on “Mitra ko Na Milne par Kshama Hetu patra”, “अपने मित्र को न मिलने पर क्षमा हेतु पत्र” for Class 7, 8, 9, 10, 12

अपने मित्र को न मिलने पर क्षमा हेतु पत्र।

एफ-9,

विष्णु गार्डन एक्सटेंशन

नई दिल्ली-110018

3 मार्च-20…

प्रिय अनुभव,

मुझे क्षमा करना, मैं कल शाम को तुम से मिल नहीं पाया। मैंने तुम्हें प्रगति मैदान में मिलने का वचन दिया था। तुमने मेरी प्रतीक्षा की होगी। मुझे क्षमा करना।

जब मैं प्रगति मैदान के लिए निकलने वाला था तभी घर में कुछ गंभीर समस्या हो गई, जिसके बारे में मैं तुम्हें मिलने पर बताऊँगा। इससे अधिक मैं तुम्हें अभी नहीं बता सकता।

तुम्हें पता है, मैं अपना वचन नहीं तोड़ता। यह मेरा पहला व आखिरी अवसर है जब मैंने ऐसा किया।

प्रेम व शुभकामनाओं सहित।

तुम्हारा विश्वसनीय

राधाकान्त

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

This site is protected by wp-copyrightpro.com